Tuesday, May 19, 2009

ना नाम चाहिए
ना पहेचान..
ना दिल में बसाना किसीको,
और बसना किसीके दिल में...
दर्द देते है ये रिश्ते बहुत...
ना मुझे अब कोई अपना चाहिए...

नीता कोटेचा