Tuesday, May 19, 2009

कोई हमारे लिए आसु बहाता नहीं ,
कोई हमारे लिए मुस्कराता नहीं..
YE दुनिया है मतलबी दोस्त.
यहाँ कोई अपना बनता नहीं..

नीता कोटेचा