Tuesday, December 25, 2007

सास
.................
इस तरह तेरी जिदगी मी शामिल होना था मुजे
कि
तू सास ले और तुजे मेरी याद आये।
पर
इस तरह से तुने भुला दिया मुजे कि

एक एक सास पे अब मई
तुम्हें याद करके मरती हू।

नीता कोटेचा