Thursday, July 28, 2011

ख़्वाब पर तो किसी का ना हक है ना काबू,
देखो हमने तुम्हें वही देखा और प्यार कर लिया

नीता कोटेचा