Tuesday, August 12, 2008

किसीको प्यार करके भूलाना हमें नही आता,
किसीसे दोस्ती करके तोड़ना हमें नही आता,
या करीब मत आना या दूर मत जाना
क्योकि
दोस्त का दूर जाना ये
बर्दास्त करना ये दिल को नही आता ।

नीता कोटेचा
१२-०८-2008

3 comments:

Anonymous said...

प्यार के नाम पर ही तड़पते हैं दिल
चाँद तारों के तले, रात ये गाती चले
मैने दिल तुझको दिया
-pragnaju

વિવેક said...

સુંદર અભિવ્યક્તિ...

Jibon Das said...



Hindi sexy Kahaniya - हिन्दी सेक्सी कहानीयां

Chudai Kahaniya - चुदाई कहानियां

Hindi hot kahaniya - हिन्दी गरम कहानियां

Mast Kahaniya - मस्त कहानियाँ

Hindi Sex story - हिन्दी सेक्स कहानीयां